इजरायल ने तेज किए हमले, कई इलाकों में इंटरनेट ठप, नेतन्याहू के दावे को हमास ने किया खारिज

[ad_1]

Israel Palestine Conflict: हमास और इजरायल के बीच जंग शुक्रवार (27 अक्टूबर) को 21वें दिन में पहुंच गई. दोनों पक्षों से मिलाकर अब तक 8,700 से ज्यादा लोग मारे गए हैं. न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक, संभावित जमीनी आक्रमण से पहले इजरायली सेना ने हमास के नियंत्रण वाले गाजा में एक बार फिर छापे मारे. इजरायली रक्षा मंत्री योव गैलेंट का कहना है कि जल्द ही हमास के खिलाफ जमीनी अभियान शुरू होगा. 

न्यूज एजेंसी एएफपी ने कहा कि शुक्रवार की शाम उत्तरी गाजा में इजरायल के तीव्र हमलों ने इलाके को हिलाकर रख दिया. हमास ने दावा किया पूरे इलाके में इंटरनेट और कम्युनिकेशन काट दिया गया है.

गाजा की इस जंग के कारण क्षेत्रीय तनाव में इजाफा हो रहा है. एक वजह यह भी है कि ईरान समर्थित लड़ाकों की ओर से अमेरिकी सैनिकों को निशाना बनाने के बाद यूएस फाइटर जेट्स ने पूर्वी सीरिया के कुछ ठिकानों पर बम बरसाए हैं.

उधर, यूएनआरडब्ल्यूए प्रमुख ने कहा है कि मिस्र के क्रॉसिंग प्वाइंट से ट्रकों में भरकर जो जरूरी सामग्री गाजा में भेजी गई वह बेहद कम है. इस बीच इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा है कि हमास और आईएसआईएस बीमार हैं और अस्पतालों को आतंक का अड्डा बनाते हैं. आइये जानते हैं इस घटनाक्रम की बड़ी बातें.

क्या हमास अस्पतालों को बना रहा आतंक का अड्डा? 

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने शुक्रवार (27 अक्टूबर) को एक ग्राफिक्स वाला वीडियो शेयर करते हुए दावा किया कि हमास और आईएसआईएस बीमार हैं और वे आतंक के लिए अस्पतालों को मुख्यालय में बदल देते हैं. उन्होंने X पर एक पोस्ट में कहा, ”हमने अभी इसे साबित करने वाली खुफिया जानकारी जारी की है.”

खुफिया जानकारी वाले वीडियो के जरिये दावा किया गया है कि हमास अल शिफा अस्पताल के फ्लोर्स और भूतल दोनों का इस्तेमाल कर रहा है. यह अस्पताल गाजा पट्टी में है. इसमें अस्पताल के विभिन्न विभागों के नीचे हमास के अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स को चिन्हित करते हुए दावा किया गया है.

आईडीएफ प्रवक्ता डेनियल हगारी ने मीडिया से कहा कि 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमले के बाद सैकड़ों आतंकी छिपने के लिए अस्पताल में भाग गए थे. उन्होंने कहा कि इजरायल के पास ऐसी खुफिया जानकारी है कि गाजा में अस्पतालों में ईंधन हैं लेकिन हमास उसका इस्तेमाल अपने टेरर इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए कर रहा है. 

हमास ने नेतन्याहू के दावे को किया खारिज

अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, उधर गाजा में सरकारी मीडिया कार्यालय के प्रमुख सलामा मारौफ ने अस्पताल के आतंक के अड्डे के रूप में इस्तेमाल करने के आरोप का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि इजरायल ने ऑडियो रिकॉर्ड बनाने के लिए तकनीक का इस्तेमाल किया और यह साबित करने के लिए कोई सबूत नहीं है कि अस्पताल के नीचे सुरंगें या कमांड सेंटर हैं.

मारा गया हमास की खुफिया शाखा का डिप्टी हेड

इजरायल ने कहा है कि उसने गाजा पट्टी के मध्य इलाके में लक्षित छापेमारी की है और हमास के दर्जनों ठिकानों पर हमला किया है. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, इजरायल डिफेंस फोर्सेज ने कहा है कि हमास की खुफिया शाखा का उप प्रमुख शादी बरुद (Shadi Barud) एक ऑपरेशन में मारा गया है.

वहीं, हमास ने तेल अवीव की एक इमारत पर हुए रॉकेट हमले की जिम्मेदारी ली है. उस हमले में तीन लोग घायल हुए हैं. डॉक्टरों ने तीन घायलों के बारे में पुष्टि की है. 

10 सहायता ट्रकों ने किया गाजा में प्रवेश

भोजन-पानी और दवाओं जैसी जरूरी चीजो से भरे दस और सहायता ट्रकों ने गाजा में प्रवेश किया है लेकिन मानवीय एजेंसियों और चेरटीज की ओर से लगातार कहा जा रहा है कि इससे भी ज्यादा की जरूरत है. जब से युद्ध शुरू हुआ है तब से गाजा में ईंधन की सप्लाई की अनुमति नहीं दी गई है. फिलिस्तीनी रेड क्रिसेंट सोसायटी के मुताबिक, एंबुलेंसों के लिए भी ईंधन खत्म हो रहा और सिर्फ जीवन रक्षक मशीनें ही काम कर रही हैं.

उधर फिलिस्तीनी शरणार्थियों के लिए काम करने वाली संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी यूएनआरडब्ल्यूए लगातार इंसानियत की खातिर युद्धविराम का आह्वान कर रही है. उसका कहना है कि संघर्ष जारी रहा को एजेंसी कुछ दिनों से ज्यादा काम नहीं कर पाएगी क्योंकि गाजा उसके कम से कम 57 कर्मी मारे गए हैं. 

प्रिजनर एक्सचेंज को लेकर बातचीत

अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने कहा है कि कतर की मध्यस्थता में इजरायल और हमास के बीच युद्धविराम और प्रिजनर एक्सचेंज डील प्रगति पर है और एडवांस्ड स्टेज में है. 

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, ईरानी विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियन ने संयुक्त राष्ट्र में बोलते हुए दावा किया कि हमास इस शर्त पर बंधकों को रिहा करने के लिए तैयार है कि इजरायल की जेलों में कैद 6,000 फिलिस्तीनियों को भी रिहा किया जाए. टाइम्स ऑफ इजरायल के मुताबिक, उन्होंने कहा कि तेहरान इस डील में भूमिका निभाने के लिए तैयार है.

अब तक कितने लोगों की गईं जानें

अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, 7 अक्टूबर से अब तक गाजा में इजरायली हमलों के चलते कम से कम 7,326 फिलिस्तीनी मारे गए हैं.  इजरायल पर हमास के हमले में 1,400 से ज्यादा लोगों ने जानें गंवा दी थी. वहीं, 26 जुलाई के आंकड़ों के मुताबिक, गाजा में 17,439 और कब्जे वाले वेस्ट बैंक में 1836 लोग घायल हुए हैं. इजरायल में 5,431 लोग घायल हुए हैं,  लोग घायल हुए हैं. 

यह भी पढ़ें- Israel Gaza Attack: ‘बंधकों को रिहा करने को तैयार है हमास, लेकिन एक शर्त है…’, संयुक्त राष्ट्र में बोले ईरान के विदेश मंत्री



[ad_2]

Source link

Leave a Comment