इस सीजन में 35 लाख शादियां होने का है अनुमान, 4.25 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का कारोबार संभव

[ad_1]

Marriage Season: त्योहारी सीजन तो देशभर के व्यापारियों और अर्थव्यवस्था के लिए शानदार रहने की उम्मीद है. लेकिन त्योहारी सीजन जैसे ही खत्म होगी शादियों के मौसम की शुरुआत हो जाएगी जिसका फायदा कारोबारियों से लेकर देश की अर्थव्यवस्था को होगा. 23 नवंबर, 2023 से शादियों का सीजन शुरू होने जा रहा है जो 15 दिसंबर तक चलेगा. और एक अनुमान के मुताबिक इस शादियों के सीजन में देशभर में करीब 35 लाख शादियां होने का अनुमान है. शादी की खरीदारी से लेकर शादियों में जरूरी सर्विसेज पर 4.25 लाख रुपये का कारोबार इस सीजन में होने का अनुमान है.  

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने ये डेटा जारी किया है. कैट के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने बताया की कैट की रिसर्च शाखा कैट रिसर्च एंड ट्रेड डेवलपमेंट सोसाइटी द्वारा हाल ही देश के 20 प्रमुख शहरों के व्यापारियों एवं सर्विस प्रोवाइडर के बीच एक सर्वे किया गया है. सर्वे के मुताबिक राजधानी दिल्ली में इस सीजन में 3.5 लाख से अधिक शादियां होने की उम्मीद है, जिससे दिल्ली में लगभग 1 लाख करोड़ रुपये का कारोबार होने की संभावना है. पिछले साल इसी अवधि में करीब 32 लाख शादियां हुई थीं और उसमें 3.75 लाख करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान जताया गया था. 

इस शादियों में करीब 6 लाख शादियों में प्रति शादी 3 लाख रुपये खर्च का अनुमान है. 10 लाख शादियों में प्रति शादी करीब 6 लाख रुपये,  12 लाख शादियों में प्रति शादी लगभग 10 लाख रुपये, 6 लाख शादियों में प्रति शादी 25 लाख खर्च होंगे, 50 हजार शादियों में प्रति शादी 50 लाख खर्च होंगे और 50 हजार शादियाँ ऐसी होंगी जिनमें 1 करोड़ या उससे अधिक पैसे खर्च होंगे. ऐसे में एक महीने तक चलने वाले शादियों के सीजन में शादियों से जुड़ी चीजों के खरीदारी और सर्विसेज के जरिए 4.25 लाख करोड़ रुपये नगदी का फ्लो देखने को मिलेगा.

प्रवीण खंडेलवाल के मुताबिक शादी के सीजन से पहले लोगों घरों की मरम्मत और घरों की रंगाई-पुताई कराते हैं. इसके अलावा शादियों में आभूषण, कपड़े, जूते, ग्रीटिंग कार्ड , सूखे मेवे, मिठाइयाँ, फल, पूजा सामग्री, किराना, खाद्यान्न, सजावट का सामान, घर की सजावट का सामान, इलेक्ट्रिक आईटम्स , इलेक्ट्रॉनिक्स और कई उपहार आइटम आदि की आमतौर पर मांग रहती है और इस साल इन सेक्टर के अलावा अन्य व्यापार में भी अच्छा कारोबार होने की उम्मीद है.

शादियों के सीजन का बड़ा लाभ होटल इंडस्ट्री को भी होगा. शादी में सामान की खरीद के अलावा, टेंट डेकोरेटर, फूलों की सजावट, क्रॉकरी, खानपान सेवा, कैब सेवा, पेशेवर समूहों का स्वागत, सब्जी विक्रेता, फोटोग्राफर, वीडियोग्राफर, बैंड सहित कई प्रकार की सेवाएं भी शामिल होती हैं. इसके साथ ही इवेंट मैनेजमेंट भी एक बड़ी व्यावसायिक संभावना बनकर उभरी है. 

ये भी पढ़ें 

OPS Vs NPS: मध्य प्रदेश कैडर के इन आईएएस अधिकारियों को मिली ओल्ड पेंशन स्कीम की सौगात, केंद्र सरकार के फैसले के बाद मिला लाभ

 

[ad_2]

Source link

Leave a Comment