गाजा के लिए देवदूत बना भारत, 38 टन फूड के साथ भेजा मेडिकल इक्विपमेंट

[ad_1]

India Sent Aid To Gaza Strip: इजरायल में घुसकर फलस्तीन के चरमपंथी संगठन हमास के हमले के बाद से इजरायली डिफेंस फोर्सज (आईडीएफ) ने लगातार गाजा पट्टी पर बमबारी जारी रखी है. पिछले 18 दिनों से जारी जंग के बीच दावा किया जा रहा है कि गाजा में रहने वाले लाखों फलस्तीनी नागरिक हमले की चपेट में हैं और भोजन, चिकित्सा समेत अन्य मूलभूत जरूरतें उन तक नहीं पहुंच पा रहीं. इस बिच भारत ने भी गाजा को जरूरी सामान भेजे है. यह मदद रफा बॉर्डर के खोले जाने के बाद भेजी जानी शुरू हुई है. 

NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र में उप स्थायी प्रतिनिधि (डीपीआर) राजदूत आर रवींद्र ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की खुली बहस में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए कहा कि भारत ने इजरायल की जबरदस्त जवाबी बमबारी से जूझ रहे गाजा पट्टी में 38 टन भोजन और महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण भेजे हैं. 

भारत ने की शांति की अपील
भारत की ओर से शांति की अपील करते हुए उन्होंने कहा,”भारत ने फिलिस्तीन के लोगों को दवाइयों और उपकरणों सहित 38 टन जरूरत का सामान भेजा है. हम शांति बहाली के लिए आवश्यक स्थितियां बनाने और सीधी बातचीत को फिर से शुरू करने की दिशा में काम करने का भी आग्रह करते हैं.

क्या भेजे गए हैं सामान

दो दिनों पर माइक्रो ब्लागिंग साइट एक्स (पूर्व में ट्वीटर) पर एक पोस्ट में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा था , “भारत ने फलस्तीन के लोगों के लिए मदद भेजी है, फलस्तीन के लोगों के लिए लगभग 6.5 टन चिकित्सा सहायता और 32 टन आपदा राहत सामग्री लेकर IAF C-17 की उड़ान मिस्र में एल-अरिश हवाई अड्डे के लिए रवाना हुआ है.”
भेजी गई सामग्री में आवश्यक जीवन रक्षक दवाएं, सर्जिकल सामान (Surgical Items), तंबू, स्लीपिंग बैग, तिरपाल, स्वच्छता उपयोगिताएं (Sanitary Utilities), पानी साफ करने की दवाइयां सहित अन्य आवश्यक चीजें शामिल हैं.
आपको बता दें कि इजरायल-हमास जंग में अब तक दोनों ओर से पांच हजार से अधिक लोग मारे गए हैं जबकि 20 हजार से अधिक घायल हैं.

 ये भी पढ़ें :गाजा में जमीनी आक्रमण के लिए आईडीएफ ‘तैयार’, बाइडेन बोले- अपने फैसले खुद ले सकता है इजरायल

[ad_2]

Source link

Leave a Comment