चलने के बाद सूजने लगते हैं हाथ-पैर तो हो सकती है यह बीमारी, शुरुआती लक्षणों को ऐसे पहचानें

[ad_1]

Rheumatoid Arthritis: उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर में कई तरह की तकलीफ भी शुरू हो जाती है. एक दिक्कत तो उम्र बढ़ने के साथ शुरू होती है वह यह हाथ-पैर में दर्द और सूजन. हाथ-पैर में दर्द और सूजन कई कारणों से हो सकते हैं. लेकिन आपको इसके संकेतों को पहचानना बेहद जरूरी है क्योंकि अगर इसका इलाज समय पर नहीं किया गया तो यह खतरनाक रूप ले सकती है. कई बार ऐसा भी होता है कि थोड़ा सा भी तेज चलने के बाद हाथ-पैर में दर्द और सूजन होने लगते हैं. इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं लेकिन यह एक गंभीर बीमारी के संकेत भी हो सकते हैं. 

आज हम बात करेंगे रूमेटाइड अर्थराइटिस के बारे में जो गठिया का ही एक एडवांस स्टेज है. यह एक ऑटो इम्युन बीमारी है. हमारी इम्युनिटी हमें कोई भी बीमारी होने से बचाती है लेकिन ऑटो इम्यून हमारी इम्यून सिस्टम के हेल्दी सेल्स को नुकसान पहुंचाते हैं. दुनियाभर में गठिया जैसी बीमारी से सबसे ज्यादा महिला पीड़ित हैं. हाथ, कलाई, पैर, टखने, घुटने, कंधे और कोहनी में सूजन इसके शुरुआती लक्षण हो सकते हैं. रूमेटाइड अर्थराइटिस आंख, फेफड़ें और त्वचा को काफी ज्यादा असर डालता है. 

रूमेटाइड अर्थराइटिस के लक्षण

इस बीमारी में सबसे ज्यादा दर्द जोड़ों में होता है. 

रुमेटाइड अर्थराइटिस में सबसे ज्यादा दर्द कलाई, पैर और जोड़ों में दर्द होता है.

कई बार यह बीमारी इतना खतरनाक रूप ले लेती है जिसके कारण जोड़ों में रेडनेस आने लगता है. यह दोनों हाथ-पैर को एक साथ प्रभावित कर सकता है. 

पैर और हाथ से बढ़कर इसके सूजन, घुटनों, कोहनी और कंधों के ज्वाइंट्स तक पहुंच जाती है.

अगर यह बीमारी ज्यादा बढ़ जाएतो लिखना, कोई चीज पकड़ना और चलना, सीढ़ियों से उतरने में दिक्कत हो सकती है. 

इस बीमारी के मरीज को काफी ज्यादा थकान, नींद न आना, भूख न लगना और बुखार की समस्या हो सकती है. 

इस बीमारी से बचने के लिए यह है खास उपाय

इस बीमारी का इलाज कई तरह से किया जा सकता है. आपको खानपान का खास ख्याल रखना होगा. कुछ खास और अच्छी आदतों को अपनी लाइफस्टाइल में शामिल करें. इसके अलावा डाइट में फैटी एसिड से भरपूर चीजों को शामिल करें. विटामिन सी से भरपूर फल और सब्जियां खाएं. जिससे सूजन की दिक्कत कम हो. देसी घी को अपनी डाइट का हिस्सा बनाएं ताकि आपकी हड्डियां मजबूत रहे. ऐसा करके आप हड्डियों और जोड़ों को मजबूत बना सकते हैं. साथ ही साथ रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें: आप भी खाते हैं रिफाइंड ऑयल तो हो जाए सावधान, यह शरीर को बना देता है बीमार

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

[ad_2]

Source link

Leave a Comment