चीनी कंपनी अलीबाबा और बाइदू ने अपने डिजिटल मैप से इजरायल को किया गायब

[ad_1]

China Stand On Israel-Hamas War: हमास-इजरायल युद्ध में चीन का रूख हमास की ओर है. चीन ने गाजा पर हो रहे हमले के लिए इजरायल को चेताया था. अब चीन की कंपनी अलीबाबा और बाइदू ने विवादित कदम उठाए हैं. वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के मुताबिक, बाइदू और अलीबाबा ने अपने डिजिटल मानचित्रों से इजरायल को हटा दिया है.

रिपोर्ट में बताया गया है कि इन कंपनियों के नक्शे में लक्जमबर्ग जैसे छोटे देश भी साफ-साफ दिख रहे हैं. ये मानचित्र मंदारिन भाषा में थे. हालांकि इस मुद्दे पर चीनी सरकार और कंपनियों ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

इजरायल-हमास युद्ध में चीन का रूख?

चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कुछ दिन पहले इजरायली विदेश मंत्री एली कोहेन से बात की थी और भरोसा दिया था कि वो मध्यथता कराने में मदद देंगे.  हालांकि चीन के कई बयानों से ऐसा लगा कि वह इजरायल के खिलाफ है. गाजा पर इजरायल के हमलों के बाद चीन के विदेश मंत्री ने कहा था कि इजरायली हमले आत्मरक्षा की दायरे से परे हैं.  विदेश मंत्री कई बार दोहरा चुके हैं कि उन्हें गाजा के नागरिकों से सहानुभूति है.

यूएन में चीन ने किसके पक्ष में डाले वोट?

बीते शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र में जॉर्डन ने एक प्रस्ताव का मसौदा पटल पर रखा, जिसके पक्ष में चीन समेत 120 देशों ने वोटिंग की थी. हालांकि अमेरिका और 14 देशों ने इसके खिलाफ वोटिंग की थी. भापत के साथ-साथ 45 देशों ने इस वोटिंग से दूरी बनाई थी. इससे पहले अमेरिका ने गाजा में सीजफायर को लेकर एक प्रस्ताव पेश किया था जिसपर चीन और रूस ने वीटो लगा दिया था. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में रूस ने भी एक प्रस्ताव पेश किया था जिसपर अमेरिका ने वीटो लगा दिया था. 

ये भी पढ़ें:

Israel Hamas War: इजरायल-हमास युद्ध पर न विरोध और न ही चुप्पी, क्या है पाकिस्तान की मजबूरी, क्यों मौन है पाक



[ad_2]

Source link

Leave a Comment