दीपावली में क्यों बनाई जाती है जिमीकंद की सब्जी, जानें इसके कई फायदे

[ad_1]

Jimikand Benefits : होली पर गुजिया, मकर संक्रांति पर खिचड़ी और ईद पर सेवई आदि बनाने की परंपरा है, उसी तरह दीपावली पर जिमीकंद की सब्जी बनाने की परंपरा है. लेकिन ज्यादतर है बनारस के आस-पास पूर्वांचल में बनता है. दीपावली के दिन जिमीकंद की सब्जी बनाना शुभ माना जाता है. जिमीकंद यानी सूरन की सब्जी बनाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. मान्यता है कि जिमीकंद जमीन के नीचे से निकलने निकलने वाली सब्जी है. इसके जड़ को काट कर निकाल दिया जाता है उसके बाद वह फिर से उग जाता है, इसी कारण दीपावली के समय जिमीकंद की सब्जी को बढ़ते हुए धन और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है. 

जानें क्या होता है जिमीकंद
जिमीकंद यानी सूरन जमीन के नीचे से निकलने वाली सब्जी है और इसे एक बार बो दिया जाए तो अपने आप ये सालों साल उगती रहती है. जिमीकंद यानी सूरन की सब्जी में  एंटीऑक्सीडेंट्स, बीटा कैरोटीन, विटामिन्स, खनिज, कैलोरी, वसा, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, पोटेशियम और घुलनशील फाइबर पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं. इसीलिए जड़ वाली सब्जियों में जिमीकंद सबसे अधिक पौष्टिक होती है.यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है. इसके ग्लाइसेमिक इंडेक्स के कारण डायबिटीज और कैंसर रोगियों के लिए भी यह लाभकारी होती है. 

वजन कम करने में मदद
उच्च फाइबर से भरपूर होने के कारण जिमीकंद सब्जी को स्लिमिंग फूड भी कहा जाता है. यह वजन घटाने में मदद करती है और शरीर के कोलेस्ट्रॉल स्तर को भी कम करती है. लेकिन इसे सही तरीके से पकाना जरूरी है. अगर इसे तेल में डीप फ्राई किया जाए तो वजन घटाने की उम्मीद नहीं की जा सकती. जिमीकंद के फाइबर पेट के अनुकूल बैक्टीरिया के लिए भी लाभदायक होते हैं. इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बेहतर बनाते हैं. निम्न वसा और उच्च फाइबर होने से यह वजन घटाने में मददगार साबित होती है. 

तनाव को करता है कम 
जिमीकंद या सूरन की सब्जी, तनाव कम करने में बहुत लाभदायक होता है. इसमें विटामिन A, पोटेशियम और आयरन आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो शरीर को ऊर्जा प्रदान करते हैं और मूड को सकारात्मक बनाते हैं. जिमीकंद के तनाव दूर करने के गुणों की वजह से इसे एक आयुर्वेदिक औषधि माना जाता है. नियमित रूप से जिमीकंद का सेवन करने से तनाव और चिंता से राहत मिल सकती है. 

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.

यह भी पढ़ें: अचानक कैसे आ जाता है हार्ट अटैक, कितनी देर में हो जाती है मौत?

 

 

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator

[ad_2]

Source link

Leave a Comment