फ्लाइट में सिगरेट पीना जुर्म, फिर भी प्लेन के वॉशरूम में क्यों बने होते हैं एशट्रे?

[ad_1]

Smoking In Flight: दुनियाभर में लाखों लोग रोजाना हवाई सफर करते हैं. इसके लिए उन्हें पहले टिकट बुक करवाना होता है और फिर फ्लाइट में सवार होकर एक जगह से दूसरी जगह तक जाना होता है. फ्लाइट से सफर को सबसे आरामदायक और वक्त बचाने वाला माना जाता है. हालांकि सभी के लिए ये सफर मुमकिन नहीं होता. फ्लाइट में बैठने के बाद कई ऐसे नियम हैं, जिनका पालन सभी यात्रियों को करना होता है. इनमें से एक नियम सिगरेट पीने का भी है, जिसमें कोई भी प्लेन में सिगरेट नहीं जला सकता है. हालांकि इसके बावजूद फ्लाइट्स के वॉशरूम में एशट्रे बनी होती है… आज हम आपको बताएंगे कि ऐसा क्यों किया जाता है… 

फ्लाइट में सिगरेट जलाना जुर्म
दरअसल फ्लाइट में सिगरेट पीना मना है और अगर कोई ऐसा करने की कोशिश भी करे तो उसे गिरफ्तार किया जा सकता है. यानी हवा में सिगरेट जलाना एक जुर्म है. हालांकि सिगरेट रखना जुर्म नहीं है, आप अपने साथ बंद पैकेट में सिगरेट ले जा सकते हैं. कई लोग विदेशों से अपनी पसंदीदा सिगरेट लेकर भी ट्रैवल करते हैं. जिन्हें वो हमेशा अपने साथ रखते हैं.

क्यों बना होता है एशट्रे?
फ्लाइट में सिगरेट पर पाबंदी है, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो बाथरूम में जाकर सिगरेट जला लेते हैं और पीने लगते हैं. ऐसा करने पर उन्हें तुरंत रोक लिया जाता है और एयरपोर्ट पर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया जाता है. इसके अलावा एयरलाइन कंपनी ऐसे पैसेंजर पर पाबंदी भी लगा सकती है. अब उस सवाल पर आते हैं कि वॉशरूम में एशट्रे क्यों बना हुआ होता है? दरअसल जब कोई शख्स हवा में उड़ती फ्लाइट में सिगरेट को जला लेता है तो उसे तुरंत बुझाना होता है, इसीलिए एशट्रे में उसे डालकर बुझाया जाता है. यानी सिगरेट को बुझाने के लिए ये फ्लाइट के वॉशरूम में एशट्रे बने हुए होते हैं. 

[ad_2]

Source link

Leave a Comment