बड़ी गिरावट का शिकार हुआ बाजार, युद्ध और आईटी शेयरों ने बनाया दबाव, जानें कैसा होगा आगे का हाल

[ad_1]

घरेलू शेयर बाजार के लिए पिछला सप्ताह काफी खराब साबित हुआ. बाजार ने भले ही सप्ताह की शुरुआत ठीक-ठाक की, लेकिन आखिर के 3 दिनों में लगातार गिरावट आई. पिछले सप्ताह गिरावट का मुख्य कारण पश्चिम एशिया में चल रहा युद्ध और आईटी शेयरों में बिकवाली रही. अब 23 अक्टूबर सोमवार से नया सप्ताह शुरू हो रहा है. आइए जानते हैं कि नए सप्ताह के दौरान बाजार का हाल कैसा रहने वाला है…

शुक्रवार को इस स्तर पर बाजार

पिछले सप्ताह की बात करें तो बाजार ने महीने की तेजी के क्रम को बरकरार रखते हुए शुरुआत की, लेकिन अंतिम तीन दिनों में बाजार में बड़ी गिरावट दर्ज की गई. आखिरी 3 दिनों में सेंसेक्स में 1000 अंकों से ज्यादा की गिरावट दर्ज की गई. सप्ताह के अंतिम दिन 20 अक्टूबर शुक्रवार को सेंसेक्स 231.62 अंक गिरकर 65,397.62 अंक पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 82.05 अंक के नुकसान में 19,542.65 अंक पर रहा.

सप्ताह के दौरान इतना नुकसान

पूरे सप्ताह दौरान बीएसई सेंसेक्स में 885.12 अंकों यानी 1.33 फीसदी की और निफ्टी में 208.4 अंकों यानी 1.05 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई. उससे पहले 13 अक्टूबर को समाप्त हुए सप्ताह में सेंसेक्स में 550 अंक से ज्यादा की और निफ्टी में 245 अंकों की तेजी आई थी. महीने के पहले सप्ताह यानी 6 अक्टूबर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में करीब 315 अंक की तेजी आई थी, जबकि निफ्टी को 0.45 फीसदी का फायदा हुआ था.

इन कारणों से गिर गए बाजार

पश्चिम एशिया में इजरायल और हमास के बीच युद्ध अभी भी जारी है. इजरायल ने मानवीय मदद के लिए कुछ ढील दी है, लेकिन वह हमास को पूरी तरह से समाप्त करने के लिए प्रतिबद्ध है. इससे हाल-फिलहाल में युद्ध के समाप्त होने के संकेत नहीं दिख रहे हैं. दूसरी ओर घरेलू बाजार में आईटी कंपनियों के तिमाही परिणाम उम्मीद से कमजोर रहे हैं. इससे आईटी शेयरों में बिकवाली देखी गई. पिछले सप्ताह के दौरान बाजार को ये 2 फैक्टर भारी पड़ गए.

ये फैक्टर डाल सकते हैं असर

नए सप्ताह की बात करें तो बाजार पर जारी रिजल्ट सीजन का असर दिख सकता है. पश्चिम एशिया में युद्ध के जारी रहने से निवेशक सतर्कता बरत सकते हैं. फेडरल रिजर्व ने ब्याज दरें और बढ़ाने का संकेत दिया है. बाजार पर इसके कारण दबाव रह सकता है. कच्चे तेल और डॉलर की घट-बढ़ से भी बाजार प्रभावित हो सकता है.

डिस्क्लेमर: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.

ये भी पढ़ें: इंफोसिस से लेकर एलएंडटी की कंपनियों तक का नंबर, इस सप्ताह कमाई कराने वाले हैं ये शेयर

[ad_2]

Source link

Leave a Comment