बदलते मौसम में बच्चे जल्दी पड़ते हैं बीमार… अभी से करते रहें ये काम, पास भी नहीं आएगी बीमारी

[ad_1]

<p class="whitespace-pre-wrap">हमें अक्सर देखने को मिलता है कि मौसम बदलते ही बच्चे सबसे ज्यादा बीमार पड़ने लगते हैं. विशेष कर के जब मानसून के आने या गर्मियों से सर्दियों में जाने के समय, बच्चों के लिए बीमारियों का घर बन जाता है. मौसम बदलने पर बच्चों को आमतौर पर वायरल बुखार, सर्दी-खांसी, इन्फेक्शन और अन्य संक्रमण होने लगते हैं.ऐसा इसलिए होता है क्योंकि बच्चों की इम्यूनिटी कमजोर होती है.ऐसे में पेरेंट्स को बच्चे की देखभाल व जीवनशैली का विशेष ध्यान रखना पड़ता है, ताकि बच्चे कमजोर न हों और बीमार न पड़ें. इसके लिए बच्चों के सही डाइट, नींद, व्यायाम और खेलकूद पर भी ध्यान देना चाहिए. आइए जानते हैं&nbsp; यहां कैसे?</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>एक्सरसाइज<br /></strong>चाहे सर्दी हो या गर्मी, एक्सरसाइज को हर मौसम में करना चाहिए. यह केवल बड़ों के लिए ही नहीं, बल्कि बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी जरूरी है.हम सभी जानते हैं कि एक्सरसाइज से शरीर में अच्छे हार्मोन बनते हैं, जो हमारा मूड बेहतर बनाते हैं. उसी तरह, सुबह की धूप में एक्सरसाइज़ करने से शरीर मजबूत होता है और बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है.इसलिए बच्चों को भी नियमित एक्सरसाइज़ और खेलकूद करानी चाहिए.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>नींद पर्याप्त लें&nbsp;<br /></strong>छोटे बच्चों के लिए पूरी नींद लेना बहुत जरूरी होता है. खासकर 12 साल से कम उम्र के बच्चों को कम से कम 9 घंटे सोना चाहिए. पूरी नींद से बच्चे का जीवन अच्छा रहता है. वो तरोताजा रहते हैं और उनमें एनर्जी भी आती है.पूरी नींद से बच्चों की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. और वह बीमार कम पड़ते हैं.&nbsp;इसलिए माता-पिता को बच्चों की पूरी नींद पर ध्यान देना चाहिए.&nbsp;<br /><br /><strong>बैलेंस डाइट का ध्यान रखें&nbsp;<br /></strong>बच्चों को स्वस्थ रखने के लिए संतुलित आहार बहुत ज़रूरी है. बच्चों की डाइट में सभी पोषक तत्वों का संतुलन होना चाहिए.&nbsp;बच्चों को प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, मिनरल्स और फाइबर की पर्याप्त मात्रा मिलनी चाहिए. फल, सब्जियाँ, दूध, दालें और अंडे जैसे पौष्टिक आहार से बच्चों की इम्यूनिटी मजबूत होती है. संतुलित आहार से बच्चे कम बीमार पड़ते हैं और जल्द रिकवर करते हैं. इसलिए माता-पिता को बच्चों को पौष्टिक और संतुलित भोजन देना चाहिए.&nbsp;</p>
<p class="whitespace-pre-wrap"><strong>हाइजीन का ध्यान रखें&nbsp;<br /></strong>बच्चों को हमेशा हाथ धोने की आदत डालनी चाहिए. खाना खाने से पहले और बाद में हाथ अच्छे से धो लेना चाहिए. जब सर्दियां आती हैं तो अकसर देखा जाता है कि बच्चे नहाना छोड़ देते हैं. कई बार माता-पिता भी इस पर ध्यान नहीं देते. लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए. बच्चों को रोज गुनगुने पानी से नहलाना चाहिए और साफ कपड़े पहनाने चाहिए.&nbsp;इस तरह सफाई और हाइजीन पर ध्यान देने से बच्चे कम बीमार पड़ेंगे.</p>
<div dir="auto"><strong><em>Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.</em></strong></div>
<div dir="auto">&nbsp;</div>
<div dir="auto"><strong>ये भी पढ़ें</strong></div>
<div dir="auto"><strong><a title="सिगरेट-शराब से भी ज्यादा खतरनाक हैं आपकी ये आदतें, तुरंत छोड़ दें, वरना हो सकती है मौत" href="https://www.abplive.com/lifestyle/health/fitness-tips-bad-dangerous-deadly-health-habits-in-hindi-2523794/amp" target="_self">सिगरेट-शराब से भी ज्यादा खतरनाक हैं आपकी ये आदतें, तुरंत छोड़ दें, वरना हो सकती है मौत</a></strong></div>

[ad_2]

Source link

Leave a Comment