भारत के ड्रीम प्रोजेक्ट IMEC कॉरिडोर की वजह से हमास ने किया इजरायल पर अटैक

[ad_1]

US President Joe Biden Comment Over IMEC: इजरायल हमास के बीच जारी युद्ध के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बुधवार (25 अक्टूबर) को एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में पत्रकारों से बात करते हुए एक बयान दिया था. राष्ट्रपति बाइडेन ने बयान में कहा था कि उन्हें विश्वास है कि हमास की ओर से इजरायल पर आतंकवादी हमला करने का एक कारण हाल ही में नई दिल्ली में जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान महत्वाकांक्षी परियोजना इंडिया मिडिल ईस्ट-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर (IMEC) है, जो पूरे क्षेत्र को रेलमार्ग के नेटवर्क से जोड़ने का काम करेगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के इंडिया मिडिल ईस्ट-यूरोप इकोनॉमिक कॉरिडोर के बयान पर व्हाइट हाउस ने सफाई दी कि इजरायल पर हमास के आतंकवादी हमले के पीछे के कारणों के बारे में उनके सिद्धांत को गलत समझा गया था. आपको बता दें कि बीते 7 अक्टूबर को हमास ने इजरायल पर हमला किया था, जिसमें अब तक 1400 से ज्यादा इजरायलियों की मौत हो चुकी है.

इजरायल और सऊदी अरब के रिश्ते
इजरायल पर हमास के हमले के पीछे के कारण के बारे में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के राजनीतिक संचार समन्वयक जॉन किर्बी ने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन को गलत समझा गया है. जॉन किर्बी ने कहा कि मुझे लगता है उन्हें गलत समझा गया है. उन्होंने जो कहा उसका मतलब था कि जिस समझौते पर हम इजरायल और सऊदी अरब के बीच रिश्ते को ठीक करने के लिए काम कर रहे थे. उसे बिगाड़ने के लिए हमास ने उन हमलों को अंजाम दिया. किर्बी ने रिपोर्टर से कहा कि मुझे लगता है कि उन्होंने वास्तव में जो कहा, आपने उसे गलत समझा.

एक हफ्ते में 2 बार किया जिक्र
जो बाइडेन ने बुधवार को एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में संवाददाताओं से कहा कि उनका इजरायल हमास युद्ध का विश्लेषण उनकी प्रवृत्ति पर आधारित है.इसके लिए उनके पास कोई सबूत नहीं है. आपको बता दें कि एक सप्ताह से भी कम समय में यह दूसरी बार था जब बाइडेन ने हमास की ओर से किए गए आतंकवादी हमले के संभावित कारण के रूप में भारत-मध्य पूर्व-यूरोप आर्थिक गलियारे (IMEC) का उल्लेख किया है.

ये भी पढ़ें: कतर में 8 भारतीयों को मृत्‍युदंड: फांसी के फंदे से बचाने के लिए इंडिया के पास 4 कानूनी- कूटनीतिक रास्ते

[ad_2]

Source link

Leave a Comment