भारत में रह रहे अपने नागरिकों के लिए कनाडा ने जारी की एडवाइजरी, कहा- ‘उत्पीड़न और धमकी…’

[ad_1]

India Canada Tension: खालिस्तान मुद्दे को लेकर भारत और कनाडा के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है. अब कनाडाई सरकार ने भारत में मौजूद अपने 41 राजनयिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है. साथ ही अपने नागरिको के लिए ‘कनाडा विरोधी प्रदर्शन’ और धमकी की चेतावनी भी जारी की है. साथ ही उन्हें कई तरह की सलाह दी गई है. 

कनाडाई सरकार की तरफ से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि बेंगलुरु, चंडीगढ़ और मुंबई में कनाडा के महावाणिज्य दूतावास अस्थायी रूप से निलंबित रहेंगे. इसमें कहा गया है कि कनाडाई नागरिक नई दिल्ली में स्थित कनाडा के उच्चायोग से आगे की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

भारत का माहौल देख कनाडा ने जारी की एडवाइजरी

कनाडाई विदेश मामलों की मंत्री मेलानी जोली ने घोषणा की थी कि राजनयिक नई दिल्ली के अल्टीमेटम के कारण कनाडा लौट रहे हैं. उन्हें डर है कि अगर वे शुक्रवार से आगे तक देश में रहे तो उनकी राजनयिक छूट छीन ली जाएगी. कनाडाई विदेश मंत्री के आगे कहा कि कनाडा और भारत के हाल के दिनों में बिगड़े संबंधों के कारण मीडिया और सोशल मीडिया पर कनाडा के प्रति विरोध प्रदर्शन और नकारात्मक भावनाएं देखने को मिल रही हैं. ऐसे में भारत में कनाडाई नागरिकों को धमकी या उत्पीड़न का शिकार होना पड़ सकता है, ऐसे में उन्हें सतर्क रहने की जरुरत है.

कनाडा ने 41 डिप्लोमैट्स को वापस बुलाया

गौरतलब है कि कनाडाई विदेश ने गुरुवार को बताया कि भारत में कनाडा के 62 में 41 डिप्लोमैट्स को हटा दिया गया है. हालांकि 21 कनाडाई राजनायिक भारत में ही रहेंगे. मेलानी जोली ने कहा कि भारत ने राजनयिकों को शुक्रवार तक देश छोड़ने का आदेश दिया था. भारत का ये कदम अनुचित है. कनाडाई सरकार ने अपने नगरिकों को सलाह देते हुए कहा कि नई दिल्ली में आपको अजनबियों के साथ कम बातचीत करनी चाहिए. साथ ही अपनी निजी जानकारी उनके साथ साझा नहीं करनी चाहिए. गौरतलब है कि भारत ने पहले ही कनाडाई नागरिकों के लिए वीजा जारी करने की प्रक्रिया को अनिश्चित काल के लिए रोक दी है.

ये भी पढ़ें: Israel Hamas War: अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने हमास से की पुतिन की तुलना, बोले- दोनों लोकतंत्र को खत्म करना चाहते हैं

[ad_2]

Source link

Leave a Comment