मरे हुए लोगों को खोजने के लिए ड्रोन नहीं बल्कि इन पक्षियों का सहारा ले रहा इजरायल

[ad_1]

Israel Hamas War: इजरायल और चरमपंथी संगठन हमास के बीच संघर्ष अब तक जारी है. कई हफ्तों से चल रही इस जंग में अब तक हजारों लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें बच्चे और महिलाएं भी शामिल हैं. इजरायल का कहना है कि वो इस बार अपने इस दुश्मन को पूरी तरह से खत्म कर लेगा, इससे पहले वो सीजफायर नहीं करेगा. यही वजह है कि इजरायल ने अपने हर ताकतवर हथियार को इस युद्ध में झोंक दिया है. हालांकि एक चीज ऐसी है, जिसके लिए इजरायल अपनी टेक्नोलॉजी का नहीं बल्कि पुराने तरीका का इस्तेमाल कर रहा है. 

नहीं मिल पाए कई शव
दरअसल हमास के हमले के बाद इजरायल के कई लोगों की मौत हो गई थी, इसके अलावा हमास के लड़ाकों ने अंदर घुसकर भी कत्लेआम मचाया था. इनमें से कई लोगों के शव अब तक नहीं मिल पाए हैं. जिसके लिए इजरायल ने एक अनोखा तरीका निकाला है. इजरायल इन शवों को तलाशने के लिए अब चीलों का सहारा ले रहा है, जो मांस को दूर से ही सूंघ लेते हैं. 

ऐसे ली जा रही चीलों की मदद
इजरायल के इकोलॉजिस्ट इस काम में सरकार की मदद कर रहे हैं. सबसे पहले इसके लिए चीलों पर जीपीएस लगाया गया. जिसके बाद उनकी ट्रैकिंग शुरू हुई. चील शवों वाले इलाके में जैसे ही घुसते हैं, वैसे ही एजेंसियों को पता लग जाता है. इसके बाद शवों को वहां से बरामद किया जाता है. भूखे चील सीधे शवों को खाने के लिए उस इलाके में पहुंच रहे हैं, जहां हमास के लड़ाकों ने नरसंहार किया था. बताया गया है कि इजरायली सेना को इन चीलों की मदद से कई शव बरामद हुए हैं. 

फिलहाल इजरायल में मारे गए लोगों के शवों और उनके शरीर के बाकी अंगों को खोजने का अभियान चलाया जा रहा है. चीलों का सहारा लेना भी इसी अभियान का एक हिस्सा है. हालांकि इजरायल से ज्यादा खराब हालत गाजा के हैं, जहां कई टन बम बरसाए गए और इसमें हजारों लोगों की जान चली गई.

ये भी पढ़ें: मिस यूनिवर्स कॉम्पिटिशन में दम दिखाने को तैयार ट्रांसजेंडर, जानें किन-किन फील्ड में हुनर से रूबरू करा चुका है यह तीसरा धड़ा

[ad_2]

Source link

Leave a Comment