‘हैरान हूं’, इजरायल-हमास जंग को लेकर बयान पर हुई इस्तीफे की मांग तो बोले UN चीफ

[ad_1]

Antonio Guterres On Hamas: संयुक्त राष्ट्र प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस ने हमास के हमले के संबंध में अपने बयान को लेकर हंगामे के बीच बुधवार (25 अक्टूबर)  को अपनी टिप्पणियों को गलत ढंग से पेश किए जाने पर हैरानी जताई और कहा कि उन्होंने हमास के आतंकी कृत्यों को उचित नहीं ठहराया.

गुटेरेस ने बुधवार ( 25 अक्टूबर) को मीडिया से अपने पिछले बयान को लेकर कहा, “मैंने कल कहा था कि नागरिकों की जानबूझकर हत्या, घायल करने, अपहरण या लोगों को लक्ष्य बनाकर रॉकेट लॉन्च करने को उचित नहीं ठहराया जा सकता है. वास्तव में मैंने फलस्तीनी लोगों की शिकायतों के बारे में बात की थी.”

‘बयान को गलत तरीके से पेश किया’
संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा “मैंने स्पष्ट रूप से कहता हूं कि फलस्तीनी लोगों की शिकायतें हमास के भयावह हमलों को उचित नहीं ठहरा सकतीं. मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया. इसको लेकर मैं काफी हैरान हूं.”

उन्होंने कहा, “मेरे बयान को इस तरह से पेश किया गया मानो, मैं हमास के आतंकी कृत्यों को उचित ठहरा रहा हूं. हालांकि, यह सरासर झूठ है. मेरा बयान बिल्कुल इसके विपरीत था.”

फलस्तीन को लेकर दिया था बयान
इससे पहले संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने क‍हा था कि 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमास के हमले ऐसे ही नहीं हुए. इसके पीछे की वजह फलस्तीन के 56 साल का कब्जा रहा है. फलस्तीनियों ने सालों तक अपने जमीन और बस्तियों पर कब्जा होते देखा है.

उन्होंने आगे कहा कि फलस्तीन हिंसा से त्रस्त है, उसकी अर्थव्यवस्था ठप्प हो गई है, लोग विस्थापित हो गए हैं और उनके घर बर्बाद हो गए हैं. उनकी दुर्दशा को लेकर किसी राजनीतिक समाधान होने की उम्मीदें टूटती जा रही हैं.  इतना ही नहीं गुटेरस इजरायल से अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानूनों के सम्मान की बात भी कही.

गुटेरेस पर भड़का इजरायल
गुटेरेस के बयान से संयुक्त राष्ट्र में इजरायल के राजदूत गिलाद एर्दान भड़क गए और उनसे इस्तीफा तक मांग लिया. एर्दान ने कहा कि गुटेरेस संयुक्त राष्ट्र का नेतृत्व करने के काबिल नहीं हैं. मैं उनसे तुरंत इस्तीफा देने की मांग करता हूं. ऐसे लोगों से बात करने का कोई औचित्य नहीं है.

इजरायल और हमास के बीच जारी जंग को 19 दिन हो चुके हैं. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक हमास ने दावा किया है कि पिछले 24 घंटे में इजरायल के हमले में 756 लोगों की मौत हुई है. वहीं, 7 अक्टूबर से लेकर अब तक हमले में 6500 से अधिक लोगों की जान जा चुकी. चरमपंथी संगठन हमास ने 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमला किया था और इसमें 1400 से अधिक लोगों की जान चली गई थी. इसके बाद इजरायल ने एयरस्ट्राइक शुरू किया. 

यह भी पढ़ें- Israel Gaza Attack: ‘हमास कोई आतंकी संगठन नहीं, बल्कि…’, युद्ध के बीच तुर्किए के राष्ट्रपति ने दिया बड़ा बयान

[ad_2]

Source link

Leave a Comment