DGCA Report: त्योहारी सीजन में हवाई जहाज से खूब उड़े लोग, इंडिगो अभी भी नंबर वन कंपनी 

[ad_1]

Air Travel Increased: भारतीयों में हवाई यात्रा का क्रेज बढ़ता ही जा रहा है. देसी एयरलाइन्स ने हवाई यात्रा का किराया महंगी ट्रेनों के बराबर लाने के प्रयास किए हैं. साथ ही देश में चल रहे त्योहारी सीजन के चलते विमानन सेक्टर (Aviation Sector) में यात्रियों की संख्या में तेजी का रुझान दिखा है. डीजीसीए (DGCA) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर में देश में हवाई यात्रा करने वालों की संख्या 11 फीसद तक बढ़ गई है. लगभग 1.26 करोड़ यात्रियों ने इस दौरान हवाई यात्रा की. आंकड़ों के अनुसार, अभी भी इंडिगो (IndiGo Airlines) इस सेक्टर की नंबर वन कंपनी बनी हुई है. कंपनी का मार्केट शेयर 62.6 फीसद है. इस दौरान एयर इंडिया (Air India) की बाजार हिस्सेदारी बढ़कर 10.5 फीसद पर पहुंच गई है. हालांकि, विस्तारा (Vistara) और एयर एशिया (Air Asia) का मार्केट घटा है. स्पाइस जेट (SpiceJet) और अकासा एयर (Akasa Air) भी मजबूती से अपनी जगह पर टिके हुए हैं. 

इंडिगो से उड़े सबसे ज्यादा पैसेंजर 

डीजीसीए के मुताबिक, इंडिगो एयरलाइन्स का इस्तेमाल 79 लाख से भी ज्यादा लोगों ने किया. भारतीय बाजार में कंपनी अपने नंबर वन स्थान पर मजबूती से बनी हुई है. हालांकि, सितंबर में कंपनी की बाजार हिस्सेदारी 63.4 फीसद थी. देश का एविएशन सेक्टर लगभग 11 फीसद सालाना की दर से आगे बढ़ रहा है. सितंबर में इन कंपनियों ने लगभग 1.22 करोड़ लोगों को एक से दूसरी जगह पहुंचाया था. 

विस्तारा और एयर एशिया को हुआ नुकसान 

पिछले महीने विस्तारा और एयर एशिया इंडिया (अब AIX Connect) को बाजार हिस्सेदारी में थोड़ा नुकसान हुआ है. अब विस्तारा की बाजार हिस्सेदारी 9.7 फीसद और एयर एशिया की 6.6 फीसद रह गई है. स्पाइस जेट का मार्केट शेयर 4.4 फीसद से बढ़कर 5 फीसद हो गया है. इसके अलावा अकासा ने अभी भी 4.2 फीसद मार्केट पर कब्जा जमाया हुआ है. 

587 यात्रियों को नहीं मिली सीट

विमानन नियामक डीजीसीए के अनुसार अक्टूबर में 587 यात्रियों को विभिन्न कारणों से विमानों में सीट नहीं दी गई. साथ ही 30,307 यात्री फ्लाइट कैंसल होने की वजह से परेशान हुए. पिछले महीने देरी से उड़ रही फ्लाइट के चलते 1.78 लाख से ज्यादा यात्रियों को समस्या झेलनी पड़ी.

ये भी पढ़ें 

Indian Railways: देश में चलेंगी 3000 नई ट्रेनें तो सबको मिलेंगे कंफर्म टिकट, 1000 करोड़ यात्रियों का बोझ उठाएगा रेलवे  

[ad_2]

Source link

Leave a Comment