Karwa Chauth 2023: करवा चौथ कब है , नोट करें सही डेट और महत्वपूर्ण जानकारी

[ad_1]

Karwa Chauth 2023 Date: करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को पड़ता है. इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए व्रत करती हैं और पूरे दिन निर्जला रखा जाता है. रात के समय चांद देखकर व्रत का पारण किया जाता है. करवा चौथ के दिन शादीशुदा महिलाएं 16 श्रृंगार कर सजती संवरती हैं और रात में चांद निकलने के बाद चंदमा की पूजा कर चांद को जल देकर और अपने पति का मुख छलनी से देखकर अपना व्रत खोलती है.

हिंदू पंचाग के अनुसार इस साल 2023 में करवा चौथ का व्रत 1 नंवबर 2023, बुधवार को पड़ रहा है. ये दिन सुहागिन महिलाओं के लिए बेहद खास दिन होता है सभी महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए भगवान से प्रार्थना करती हैं और उनके लिए व्रत करती हैं. सुहागिन महिलाएं इस दिन सुखी वैवाहिक जीवन के लिए पूरी निष्ठा के साथ दिनभर निर्जला व्रत रखती हैं. फिर रात में चंद्रमा की पूजा कर पति के हाथों से जल ग्रहण कर व्रत का पारण करती हैं. आइए जानते हैं साल 2023 में करवा चौथ कब पड़ रहा है. 

कब है साल 2023 में करवा चौथ (Kab Hai 2023 Mein Karwa Chauth)
साल 2023 में 1 नंवबर 2023, बुधवार के दिन करवा चौथ का व्रत रखा जाएगा.

शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth 2023 Shubh Muhurat)

  • करवा चौथ की तिथि 31 अक्टूबर 2023, मंगलवार के दिन रात्रि 9.30 से शुरु हो जाएगी.
  • वहीं 1 नवंबर को चंद्र दर्शन के बाद रात 9.10 मिनट पर समाप्त हो जाएगी.
  • पूजा का शुभ समय 1 नवंबर शाम 5.54 मिनट से लेकर 7.02 मिनट तक रहेगा.
  • चंद्रोदय का समय 1 नवंबर रात 8.26 मिनट पर रहेगा.

करवा चौथ का महत्व (Importance of Karwa Chauth 2023)
करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के जीवन में बहुत महत्व रखता है. ये व्रत शादीशुदा महिलाओं के दांपत्य जीवन में खुशियां भरता है. इस दिन सास अपनी बहू को सरगी देती है. जिससे सुबह सूर्योदय से पहले खाया जाता है. करवा चौथ के व्रत में सरगी का बहुत महत्व है. इसके बिना करवा चौथ का व्रत पूरा नहीं माना जाता है.

ये भी पढ़ें: Dev Deepawali 2023 Date: देव दीपावली की तिथि की असमंसम हुई दूर, अब इस दिन बनारस में मनाया जाएगा देवताओं का महापर्व

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि ABPLive.com किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

[ad_2]

Source link

Leave a Comment